Vice President Jagdeep Dhankhar In Haryana Kaithal Says India Will Be World Third Largest Economy By 2030


Jagdeep Dhankhar Speech: उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने रविवार (23 अप्रैल) को हरियाणा के कैथल में कहा कि भारत बदल रहा है और यह 2030 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा. धनखड़ ने कैथल में संत धन्ना भगत की जयंती पर राज्य-स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि दुनिया में भारत की प्रतिष्ठा इतनी ऊंची कभी नहीं रही, जितनी अब है.
इस कार्यक्रम में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी शामिल हुए. उपराष्ट्रपति ने कहा कि देश के इतिहास में संतों का योगदान अतुलनीय रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘आज देश कुछ ऐसा देख रहा है, जिसकी पहले कभी कल्पना भी नहीं की गई थी… 200 साल तक हम पर शासन करने वाले अंग्रेजों को पछाड़कर भारत पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है और इसमें किसानों और श्रमिकों का बड़ा योगदान है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस दशक के अंत तक… भारत इस ग्रह पर तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा.’’
उपराष्ट्रपति ने अयोध्या के राम मंदिर निर्माण का किया जिक्र
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का जिक्र करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि कई लोगों ने संदेह व्यक्त किया था कि क्या यह (राम मंदिर) कभी बन पाएगा, लेकिन आज यह हकीकत है. उन्होंने कहा कि मंदिर प्राचीन भारतीय वास्तुकला का अनुसरण करते हुए बनाया जा रहा है. उन्होंने भारतीय समाज में संतों के मूल्यों को उजागर करने के लिए एक हिंदी फिल्म संवाद का हवाला दिया. धनखड़ ने बड़े पैमाने पर धन्ना भगत की जयंती मनाने के लिए हरियाणा सरकार की सराहना की.
सीएम खट्टर ने की ये घोषणा
इस कार्यक्रम में, सीएम खट्टर ने घोषणा की कि उनकी सरकार धनौरी या आसपास के क्षेत्र में धन्ना भगत की एक बड़ी प्रतिमा स्थापित करेगी. उन्होंने यह भी घोषणा की कि कैथल में बन रहे मेडिकल कॉलेज का नाम धन्ना भगत के नाम पर रखा जाएगा.
किसानों को बताया देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़
इस कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति ने कहा कि किसान देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं और एक सरकारी योजना के तहत 11 करोड़ से ज्यादा किसानों को 2.25 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का भुगतान किया गया है. उन्होंने कहा कि भारत बदल रहा है, प्रौद्योगिकी के कारण लोगों को सीधे लाभ मिल रहा है.
धनखड़ ने कोविड-19 महामारी के दौरान धार्मिक नेताओं की ओर से निभाई गई भूमिका की भी सराहना की. उन्होंने कहा, ‘‘हमारे संतों ने कोविड-19 महामारी के दौरान हर व्यक्ति को जरूरतमंदों की मदद करने के लिए प्रोत्साहित किया और उस समय हमारे देश में कोई संकट नहीं था.’’
खाप पंचायतों को लेकर धनखड़ ने ये कहा
उन्होंने खाप पंचायतों की ओर से निभाई गई भूमिका की भी सराहना करते हुए कहा कि वे सशक्त हैं और दूरदर्शिता रखते हैं. धनखड़ ने कहा कि जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपना खून-पसीना बहाया, उन्हें कभी भुलाया नहीं जा सकता. धनखड़, उनकी पत्नी और सीएम खट्टर ने भी धनौरी गांव के धन्ना भगत मंदिर में पूजा अर्चना की.
यह भी पढ़ें- Eastern Ladakh Row: पूर्वी लद्दाख विवाद पर भारत-चीन के बीच हुई 18वें दौर की सैन्य वार्ता, कहां तक पहुंची बात?



Source link

Related Articles

Stay Connected

1,271FansLike
1FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles