US Confirmed Nine Monkeypox Cases Across Seven States Know World Wide Monkeypox Cases


Monkeypox Cases World Wide: दुनिया के कई देशों में मंकीपॉक्स से खलबली मची हुई है. ये बीमारी तेजी से फैल रही है. दुनिया के 20 से अधिक देशों में ये बीमारी फैल चुकी है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक मंकीपॉक्स (Monkeypox) के लगभग 200 मामलों की पुष्टि हुई है. इनमें से 100 से अधिक संदिग्ध मामलों में मंकीपॉक्स का पता उन देशों के बाहर लगाया गया है जहां यह आमतौर पर फैलता है. दुनिया के कई देशों में मंकीपॉक्स के मामले बढ़ने से लोगों के बीच चिंता काफी बढ़ गई है.
अमेरिका (US) ने मंकीपॉक्स के 9 मामलों की पुष्टि की है. अमेरिका के अलावा ब्रिटेन, बेल्जियम, फ्रांस, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड, पुर्तगाल, स्पेन, स्वीडन, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, ऑस्ट्रिया, इज़राइल और स्विट्जरलैंड सहित कुछ गैर-स्थानिक देशों में भी मंकीपॉक्स के मामलों की रिपोर्ट की गई है. यूरोपीय संघ ने मंकीपॉक्स के 118 मामलों की पुष्टि की है. यूनाइटेड किंगडम ने 90 मामलों की पुष्टि की है जबकि अमेरिका ने मंकीपॉक्स के 9 मामलों की पुष्टि की है. 
अमेरिका में मंकीपॉक्स के 9 मामलों की पुष्टि
अमेरिकी रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र ने सात अमेरिकी राज्यों में मंकीपॉक्स के नौ मामलों की पहचान की है. अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि कैलिफोर्निया, फ्लोरिडा, मैसाचुसेट्स, न्यूयॉर्क, यूटा, वर्जीनिया और वाशिंगटन में ये मामले सामने आए हैं. सीडीसी के निदेशक डॉ. रोशेल वालेंस्की ने कहा कि अमेरिका के पास अभी मंकीपॉक्स से सामना करने के लिए जरुरी संसाधन उपलब्ध हैं. हम दशकों से इस प्रकार के प्रकोप की तैयारी कर रहे हैं. वहीं, कनाडा के स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंकीपॉक्स के 16 मामलों की पुष्टि की है. सभी क्यूबेक प्रांत में पाए गए हैं.
मंकीपॉक्स के मामले
देश                       मंकीपॉक्स के मामले
अमेरिका    –             9
स्पेन         –             51
पुर्तगाल     –             37
ब्रिटेन       –             90
कनाडा     –              16
भारत में क्या है तैयारी?
भारत में 25 मई तक मंकीपॉक्स (Monkeypox) के किसी भी मामले का पता नहीं चला है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) जल्द ही मंकीपॉक्स पर दिशानिर्देश जारी करेगा. हालांकि, गैर-स्थानिक देशों में मामलों की बढ़ती रिपोर्ट के मद्देनजर भारत को तैयार रहने की जरूरत है. सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय अंतरराष्ट्रीय यात्रियों (International Passenger) के लिए एक एडवाइजरी भी जारी करेगा. दिशानिर्देशों में अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए सलाह शामिल होगी.
मंकीपॉक्स के लक्षण?
मंकीपॉक्स प्राइमेट (Primate) और अन्य जंगली जानवरों में पैदा होता है. अधिकांश रोगियों में बुखार, शरीर में दर्द, ठंड लगना और थकान का कारण बनता है. गंभीर मामलों वाले मरीजों के चेहरे, हाथों और शरीर के अन्य हिस्सों पर चकत्ते और घाव विकसित हो सकते हैं.
ये भी पढ़ें:
Ballistic Missile Test को लेकर UN में उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगाने की US की कोशिशों को झटका, चीन-रूस ने लगाया वीटो
Earthquake: दक्षिण पेरु में भूकंप का शक्तिशाली झटका, रिक्टर पैमाने पर इतनी थी तीव्रता



Source link

Related Articles

Stay Connected

1,271FansLike
1FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles