Sandeshkhali Case: ‘ममता बनर्जी असमर्थ तो हमें बताएं, केंद्र 1 घंटे में करेगा शाहजहां शेख को गिरफ्तार, बोले निसिथ प्रमाणिक



Sandeshkhali Case Latest News: संदेशखली घटना को लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री निसिथ प्रमाणिक ने पश्चिम बंगाल सरकार और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोला है. उन्होंने कहा, “क्या ममता शाहजहां शेख को गिरफ्तार करने में असमर्थ हैं? अगर ऐसा है तो उन्हें केंद्र सरकार की मदद लेनी चाहिए, जो राज्य का समर्थन करने के लिए पूरी तरह से मौजूद है.”
भाजपा नेता ने यह भी कहा कि केंद्र के पास तृणमूल कांग्रेस के फरार नेता को एक घंटे के अंदर गिरफ्तार करने की क्षमता है. उन्होंने कहा, “मैंने पहले भी कहा है कि अगर ममता बनर्जी सरकार शाजहां शेख को गिरफ्तार करने में असमर्थ है, तो उन्हें केंद्र सरकार से मदद लेनी चाहिए. केंद्र राज्य का समर्थन करने के लिए पूरी तरह से मौजूद है. बल पूरी तरह से तैयार हैं. हमारे पास क्षमता है. इस मामले में राज्य का समर्थन करने के लिए हमेशा तैयार हूं. आज भी फैक्ट-फाइंडिंग टीम को अंदर नहीं जाने दिया गया और सीधे गिरफ्तार कर लिया गया, लेकिन जब टीएमसी का कोई नेता वहां (संदेशखाली) जाना चाहता है, तो उसे रोका नहीं जाता है. उनके लिए कानून और व्यवस्था का कोई मतलब नहीं है. सब कुछ विपक्ष के लिए है.”
‘पीएम मोदी और टीएमसी के बीच कोई तुलना नहीं’
उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी और टीएमसी के बीच कोई तुलना कैसे हो सकती है. एक तरफ मोदी जी हैं जो भारत को आगे ले जाने की कोशिश कर रहे हैं और दूसरी तरफ बुआ-भतीजे हैं. क्या पूरे देश और दुनिया में मोदी का कोई मुकाबला है, ये सोचने वाली बात है. प्रधानमंत्री यहां आएंगे और बंगाल की पूरी जनता उनके स्वागत के लिए पूरी तरह से तैयार है, वे बड़े उत्साह के साथ स्वागत करेंगे.
राज्यपाल ने गिरफ्तारी पर डीजीपी से मांगी रिपोर्ट
दूसरी ओर संदेशखाली केस में एक स्वतंत्र फैक्ट फाइंडिंग कमेटी के 6 सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) से तत्काल रिपोर्ट मांगी है. संदेशखाली जाते समय पुलिस की ओर से गिरफ्तार और हिरासत में लिए गए कमेटी के सदस्यों ने राज्यपाल से मुलाकात की और अवैध गिरफ्तारी और धमकी के खिलाफ अपना कड़ा विरोध व्यक्त किया. दरअसल, संदेशखाली जा रहे एक स्वतंत्र फैक्ट फाइंडिंग टीम छह सदस्यों को रविवार दोपहर पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के भोजेरहाट में गिरफ्तार किया गया था. टीम की अगुवाई पटना उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति नरसिम्हा रेड्डी कर रहे थे और उनके साथ सदस्य चारू बाली खन्ना, भावना बजाज, ओपी व्यास, राजपाल सिंह, अपर्णा बनर्जी और बंदना बिस्वास थे.
फरार चल रहा है शाहजहां शेख
संदेशखाली में महिला प्रदर्शनकारी टीएमसी नेता शाहजहां शेख और उसके सहयोगियों की ओर से किए गए कथित अत्याचारों के खिलाफ न्याय की मांग कर रही हैं. संदेशखाली में बड़ी संख्या में महिलाओं ने शाहजहां शेख और उसके समर्थकों पर जबरदस्ती जमीन हड़पने और यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था. शाहजहां शेख अभी फरार चल रहा है.



Source link

Related Articles

Stay Connected

1,271FansLike
1FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles