Rahul Gandhi Speech Lok Sabha Speaker Stops When Congress MP Said Government Killed Bharat Mata In Manipur | ‘भारत माता की हत्या’ पर स्पीकर ने टोका, तो राहुल गांधी बोले


Rahul Gandhi Speech in Lok Sabha: विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर बुधवार (9 अगस्त) को चर्चा के दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला. मणिपुर हिंसा के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर कई सवाल दागे और यह भी पूछा कि वह अभी तक मणिपुर क्यों नहीं गए और वहां के लोगों से क्यों मुलाकात नहीं की. इस दौरान, जब राहुल ने कहा कि आपने मणिपुर में भारत माता की हत्या की है, तो स्पीकर ओम बिरला ने उन्हें टोका और सही भाषा का इस्तेमाल करने को कहा.
136 दिन बाद लोकसभा में अपना पहला भाषण देते हुए राहुल गांधी ने सरकार को घेरते हुए कहा कि आप भारत माता के रखवाले नहीं हो. आप भारत माता के हत्यारे हो और आपने मणिपुर में मेरी मां की हत्या की है. इस पर लोकसभा स्पीकर ओम बिरला नें उन्हें टोका तो राहुल ने कहा कि वह भारत माता की बात कर रहे हैं और भारत माता उनकी मां हैं.
राहुल बोले-मणिपुर नहीं जाते पीएम मोदीराहुल ने कहा, ‘मैं मणिपुर पर अपनी मां की हत्या की बात कर रहा हूं. आपने मेरी मां की हत्या की मणिपुर में. एक मेरी मां यहां बैठी है, दूसरी मां को आपने मणिपुर में मारा है और हर रोज जब तक आप हिंसा को बंद नहीं करोगे तब तक आप मेरी मां की हत्या कर रहे हो.’ उन्होंने आगे कहा कि हिंदुस्तान की सेना मणिपुर में एक दिन में शांति ला सकती है. हिंदुस्तान की सेना का आप प्रयोग नहीं कर रहे हो क्योंकि आप हिंदुस्तान को मणिपुर में मारना चाहते हो. राहुल गांधी ने कहा कि आप देशद्रोही हो, आप देशभक्त नहीं हो, आप देशप्रेमी नहीं हो आप देशद्रोही हो. आपने देश की हत्या मणिपुर में की. इसीलिए आपके प्रधानमंत्री मणिपुर नहीं जाते. 
राहुल ने कहा- आप देश में केरोसीन फेंक रहेराहुल गांधी ने कहा, ‘आप पूरे देश में केरोसीन फेंक रहे हो. आपने मणिपुर में केरोसीन फेंकी और फिर चिंगारी लगा दी. अब आप हरियाणा में कर रहे हो. पूरे देश को आप जलाने में लगे हो. आप पूरे देश में भारत माता की हत्या कर रहे हो.’
मणिपुर पर विपक्ष का अविश्वास प्रस्तावमणिपुर हिंसा को लेकर विपक्ष लगातार सरकार को घेरने में लगा है और सदन में प्रधानमंत्री के बयान की मांग कर रहा है. इसे लेकर कांग्रेस के सांसद गौरव गोगोई ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पेश किया, जिस पर चर्चा चल रही है. मणिपुर में 3 मई से भड़की हिंसा में अब तक 152 लोगों की मौत हो चुकी है. सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान मणिपुर सरकार ने तीन महीनों का डेटा पेश करते हुए कहा कि राज्य में हिंसक घटनाओं में मई में सबसे ज्यादा 107 मौतें दर्ज की गईं. उसके बाद जून में 27 और जुलाई में 18 मौतें हुई हैं. वहीं, 31 जुलाई को हरियाणा के नूंह में सांप्रदायिक हिंसा के कारण माहौल काफी तानवपूर्ण हो गया. द हिंदू की रिपोर्ट में आधिकारियों के हवाले से बताया गया कि हिंसक घटनाओं में नूंह में 6 मौते हुई हैं.
यह भी पढ़ें:Flying Kiss Row: बीजेपी सांसदों ने राहुल गांधी पर लगाया फ्लाइंग किस का आरोप, पत्र लिखकर की शिकायत, पढ़ें – क्या है महिला MPs का दावा



Source link

Related Articles

Stay Connected

1,271FansLike
1FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles