Mumbai Cruise Drugs Case No Complaint Against Aryan Khan And 5 Others Due To Lack Of Sufficient Evidence Key Points | Mumbai Cruise Drugs Case: शाहरुख खान के बेटे आर्यन को क्लीनचिट, समीर वानखेड़े पर हो सकती है कार्रवाई


Mumbai Cruise Drugs Case Main Points: NCB ने बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान (Shahrukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) को क्रूज पर ड्रग्स मिलने के मामले में शुक्रवार को क्लीन चिट दे दी. इस सिलसिले में उन्हें पिछले साल गिरफ्तार किया गया था. मामले में आर्यन खान के अलावा 19 अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. दो को छोड़कर सभी आरोपी फिलहाल जमानत पर बाहर हैं. केवल 14 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया गया है, आर्यन समेत 6 लोगों को सबूत न मिलने के कारण छोड़ दिया गया है.

NCB ने एक बयान में कहा, गुप्त सूचना के आधार पर NCB-मुंबई ने 2 अक्टूबर, 2021 को विक्रांत, इश्मीत, अरबाज, आर्यन और गोमित को इंटरनेशनल पोर्ट टर्मिनल मुंबई पोर्ट ट्रस्ट पर, जबकि नुपुर, मोहक और मुनम को कॉर्डेलिया क्रूज पर पकड़ा था. आर्यन और मोहक को छोड़कर सभी आरोपियों पास से ड्रग्स बरामद हुई थी.
NCB ने कहा, शुरुआत में एनसीबी-मुंबई ने मामले की जांच की. बाद में जांच के लिये नयी दिल्ली में एनसीबी मुख्यालय की तरफ से संजय कुमार सिंह, डीडीजी (संचालन) की अध्यक्षता में एक विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया गया. 11 नवंबर 2021 को मामले की जांच SIT ने अपने हाथ में ले ली थी.
बयान में कहा गया है कि SIT ने संदेह के बजाय प्रमाण के आधार पर जांच की. SIT की जांच के आधार पर 14 आरोपियों के खिलाफ NDPS अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत शिकायत दर्ज की जा रही है. छह अन्य व्यक्तियों के खिलाफ सबूतों के अभाव के चलते शिकायत दर्ज नहीं की जा रही है.
NCB ने शुक्रवार को मामले में आरोप पत्र दाखिल किया. एजेंसी ने रजिस्ट्री के समक्ष आरोप पत्र जमा किया और विशेष एनडीपीएस अदालत दस्तावेजों के सत्यापन के बाद इसका संज्ञान लेगी. इस साल मार्च में विशेष अदालत ने जांच एजेंसी को आरोप पत्र दाखिल करने के लिए 60 दिन का समय दिया था.
एनसीबी ने इस मामले में पिछले साल 3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया था और जमानत मिलने के बाद उन्हें उसी महीने जेल से रिहा कर दिया गया था. मामले में NCB विजिलेंस टीम की रिपोर्ट भी जल्द आ सकती है, जिसके बाद समीर वानखेड़े की मुसीबत बढ़ सकती है. वानखेड़े ने जिस तरह से केस हैंडल किया, उसमे कई खामियां पाई गईं. विजिलेंस  टीम इस मामले में जल्द रिपोर्ट फाइल कर सकती है.
सूत्रों के मुताबिक सरकार ने आर्यन खान ड्रग्स बरामदगी मामले में पूर्व-एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े की घटिया जांच के लिए उचित कार्रवाई करने के लिए कहा है. समीर वानखेड़े के फर्जी जाति प्रमाण पत्र मामले में सरकार पहले ही कार्रवाई कर चुकी है.
एनसीबी के डीडीजी ऑपरेशन संजय कुमार सिंह के मुताबिक जांच के दौरान हमने जो सबूत जुटाए हैं, उसके आधार पर हमें 14 के खिलाफ सबूत मिले और हमने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की, हमें 6 अन्य के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं मिले, इसलिए हमने उनके खिलाफ दायर नहीं किया.
उन्होंने कहा कि हमें आर्यन खान और 5 अन्य के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं मिले. इसलिए, हमने उन छह के खिलाफ शिकायत दर्ज नहीं करने का फैसला किया है.
सबूतों के अभाव में आर्यन सहित 6 के खिलाफ़ चार्जशीट नही फाइल की गई. जिन 6 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल नहीं की है, उनमें आर्यन खान, अविन साहू, गोपाल जी आनंद, समीर सैघम, भाष्कर अरोड़ा, मानव सिंघल हैं.
मामले में कुल 20 आरोपी हैं, जिसमें से 18 आरोपी ज़मानत पर बाहर हैं और 2 आरोपी अब भी जेल में क़ैद हैं. जो दो आरोपी जेल के अंदर हैं उनके नाम अब्दुल शेख़ और चीनेडु इग्वे है. कुल 10 वोल्यूम की चार्जशीट है जो फ़िलहाल कोर्ट की रजिस्ट्री में है. सूत्रों में बताया की 6 पन्नों की चार्जशीट है.

ये भी पढ़ें- आजम खान को SC से राहत, रामपुर के डीएम को जौहर विश्वविद्यालय से जुड़ी जमीन कब्जे में लेने का निर्देश दिया



Source link

Related Articles

Stay Connected

1,271FansLike
1FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles