Govt Warns Against Sharing Aadhar Details, Opposition Leaders Owaisi Taunted | Aadhar Card कार्ड को लेकर केंद्र की चेतावनी, ओवैसी बोले


Aadhar Card Rules Updated by Government: रविवार को केंद्र सरकार ने एक प्रेस विज्ञप्ति (Press Release) के माध्यम से देश की जनता से आधार कार्ड की प्रतियां साझा नहीं करने की अपील की है. इस प्रेस विज्ञप्ति में सरकार ने देशवासियों से अनुरोध किया है कि अपने आधार की फोटोकॉपी किसी व्यक्ति या संस्थान के साथ धड़ल्ले से साझा न करें. इसके बाद एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने सरकार पर तंज कसा है. ओवैसी के अलावा कुछ और विपक्षी नेताओं ने भी सरकार के इस ऐलान पर प्रतिक्रिया दी है. वहीं सोशल मीडिया पर भी सरकार के इस फैसले को लेकर तरह-तरह के कमेंट्स आ रहे हैं.
केंद्र सरकार के आधार कार्ड में नियमों के संशोधन को लेकर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी सहित विपक्षी नेताओं ने सरकार पर तंज कसे हैं. ओवैसी ने सरकार की इस प्रेस विज्ञप्ति के जारी होने के बाद ही केंद्र सरकार पर तंज कसा है. ओवैसी ने कहा, आप मत भूलो कि आधार कार्ड का इस्तेमाल मॉब लिंचिंग के लिए भी किया गया है. देवास, मध्य प्रदेश में आधार कार्ड नहीं होने पर मुस्लिम विक्रेता की पिटाई की गई थी. 

Govt agencies made Aadhar mandatory for years. Now they expect common people to argue about some govt notification & risk losing essential services. Not to forget Aadhaar has been used by mobs to harass & kill. In Dewas MP a Muslim vendor was thrashed for not having Aadhar 1/2 https://t.co/F04xGZXcfs pic.twitter.com/Z808XGzGmw
— Asaduddin Owaisi (@asadowaisi) May 29, 2022

ओवैसी ने सरकार पर कसा तंजओवैसी ने सरकार पर हमला जारी रखते हुए कहा, सरकारी एजेंसियों ने बीते कई सालों से आधार को अनिवार्य किया है. अब सरकार इस बात की उम्मीद कर रही है कि आम लोग कुछ सरकारी अधिसूचना और आवश्यक सेवाओं को खोने के जोखिम के बारे में बहस करेंगे. वहीं ओवैसी ने पूर्व बीजेपी पार्षद द्वारा एक विकलांग व्यक्ति भंवरलाल जैन की जान लेने की बात पर तंज कसा उन्होंने कहा उनको इस संदेह पर मार डाला था कि वह मुस्लिम थे और वो अपना आधार कार्ड दिखाने में विफल रहे थे ऐसे कई उदाहरण जहां आधार कार्ड लोगों के लिए घातक रहा है.

जब देश के हर हिंदुस्तानी का आधार कार्ड देश के हर कोने में बंट चुका है, तब सरकार को याद आया कि ऐसा करना खतरनाक हो सकता है..!बड़ी देर नही कर दी ‘हुजूर’ आते-आते?? pic.twitter.com/fpbltrIlsN
— Srinivas BV (@srinivasiyc) May 29, 2022

कांग्रेस ने कसा तंजवहीं कांग्रेस ने भी सरकार के आधार कार्ड के नियमों पर बदलाव को लेकर तंज कसा है. कांग्रेस नेता श्रीनिवास वीबी ने अपने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘जब देश के हर हिंदुस्तानी का आधार कार्ड देश के हर कोने में बंट चुका है, तब सरकार को याद आया कि ऐसा करना खतरनाक हो सकता है..! बड़ी देर नही कर दी ‘हुजूर’ आते-आते??’

ग़ज़ब खेला है 😳पहले आधार #AadharCard और उसके फ़ोटोकॉपी को हर जगह अनिवार्य बना दिया।सरकारी रजिस्ट्रेशन से लेकर होटल में आधार की फ़ोटोकॉपी देने के लिए मजबूर किया गया।और अब खुद सरकार कह रही है कि फ़ोटोकॉपी मत दीजिए, दुरूपयोग हो सकता है। pic.twitter.com/ix0L5FRb4P
— Dr Kafeel Khan (@drkafeelkhan) May 29, 2022

सोशल मीडिया पर डॉक्टर कफील खान कसा तंजवहीं सोशल मीडिया पर भी आधार कार्ड के नियमों को लेकर लोगों ने कमेंट्स करना शुरू कर दिया है. डॉक्टर कफील नाम का ट्विटर यूजर लिखता है,  ‘गजब खेला है 😳पहले आधार #AadharCard और उसके फ़ोटोकॉपी को हर जगह अनिवार्य बना दिया. सरकारी रजिस्ट्रेशन से लेकर होटल में आधार की फ़ोटोकॉपी देने के लिए मजबूर किया गया. और अब खुद सरकार कह रही है कि फ़ोटोकॉपी मत दीजिए, दुरूपयोग हो सकता है.’
केंद्र सरकार ने जारी की अधिसूचनाआपको बता दें कि इसके पहले 27 मई को इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी करके कहा, जिन संगठनों ने यूआईडीएआई (UIDAI) से उपयोगकर्ता का लाइसेंस लिया है वे किसी भी व्यक्ति की पहचान स्थापित करने के लिए आधार का उपयोग कर सकते हैं. इसके अलावा प्रेस विज्ञप्ति में ये भी कहा गया है कि होटल या फिल्म जैसी निजी संस्थाएं आधार कार्ड की प्रतियां रखने की हकदार नहीं हैं.
यह भी पढ़ेंःAadhar Card: आधार कार्ड के इस्तेमाल को लेकर हो जाएं सावधान, सरकार ने जारी किया ये अलर्ट
Exclusive: जिसे दी गाली, क्या उसके लिए बजाएंगे ताली? हार्दिक पटेल ने किया ये खुलासा, BJP में जाने को लेकर दिया जवाब




Source link

Related Articles

Stay Connected

1,271FansLike
1FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles