Bihar News : न दूल्हे को पता था कि उसकी शादी है, न पिता को; लड़की वालों ने जब रोक दी शादी तो खुला राज


शादी कार्ड में दुल्हे का नाम मंडप में बैठा कोई और
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार

जाहिर तौर पर आपने शादी-ब्याह की सैकड़ों कहानियां पढ़ी-सुनी होंगी। बिहार के हाथपकड़ा, पकड़ौआ शादियों के बारे में भी जानते हों, यह संभव है। लेकिन, यहां तो कुछ और ही हो रहा था। दूल्हे को पता नहीं कि उसकी शादी होने वाली है। समधी बनकर दुल्हन के दरवाजे पर पहुंचे शख्स को नहीं पता कि वह ही असली समधी है। समधन बनकर बारात लिए पहुंची महिला ने दहेज लेकर यह शादी पक्की की थी और वह पूरी धमक के साथ शादी कराने की तैयारी में थी। गड़बड़ यह हुआ कि दूल्हे को असहज पाकर दुल्हन पक्ष को शक हुआ। चेहरा ठीक से देखा गया तो दूल्हा ही बदला हुआ था। मामला बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा का है।

बारात में आए सभी आठ बंधक बनाए तो पहुंची पुलिस

नालंदा में शादी के लिए पहुंचे लड़के पक्ष को लड़की पक्ष ने गुरुवार को बंधक बना लिया। मामला दीपनगर थाना क्षेत्र के डुमरावां पंचायत अंतर्गत डुमरावां महादलित टोले की है। किसी ने इस बात की सूचना स्थानीय पुलिस को दे दी, इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने लड़की पक्ष एवं लड़के पक्ष को अपने साथ लेकर थाने चली गई। पुलिसिया पूछताछ में सामने आया कि नवादा के अमौनी के रहने वाले रामजन्म मांझी और उनकी पत्नी लक्ष्मीनिया देवी अपने बेटे की बारात लेकर गुरुवार सुबह करीब 3 बजे डुमरावां गांव में देवशरण मांझी के घर पहुंचे थे। बारातियों का स्वागत लड़की पक्ष ने पूरे धूमधाम से किया। जब शादी की रस्म शुरू होने वाली थी, तभी दूल्हे को देखकर शक हुआ। दूल्हा बदलने का विवाद शुरू हुआ। लड़की पक्ष ने यह कहते हुए शादी से इनकार कर दिया कि जिस लड़के से शादी तय हुई थी, उसे लाया जाए। इसके बाद लड़के पक्ष के द्वारा मामले को भटकाने का प्रयास किया जाने लगा। बात नहीं बनी तो लड़की वालों ने बारात में आए सभीआठ लोगों को बंधक बना लिया और हंगामा करने लगे।

 



Source link

Related Articles

Stay Connected

1,271FansLike
1FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles