Bihar: पटना में अगवा होने से बचे डॉक्टर, सुरक्षाकर्मियों ने ऐसे बचाई जान


चिकित्सक डॉ गणपति
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार

शाम ढ़लते ही पटना के दानापुर स्थित सगुना मोड के पास हाइटेक हॉस्पिटल के एक डॉक्टर को बाइक से आए अपराधियों ने अपहरण करने की कोशिश की। लेकिन तब तक अस्पताल के सुरक्षाकर्मियों ने देख लिया और लपक कर अपराधियों के साथ भीड़ गए। दोनों के बीच जमकर उठा पटक हुई। पकड़ाने के डर से अंधेरा का फायदा उठाते हुए बाइक से आए दो अपराधी वहां से फरार हो गए, जबकि एक अपराधी को सुरक्षाकमियों ने पकड़ लिया।

सुरक्षाकर्मियों ने बचाई जान

अस्पताल के सुरक्षाकर्मियों का कहना है कि डॉ गणपति अपनी ड्यूटी समाप्त कर जैसे ही निजी अस्पताल से बाहर निकले, पूर्व से वहां मौजूद दो बाइक पर तीन शख्स मौजूद थे। इनको देखते ही वे लोग डॉक्टर की तरफ बढे और जबरदस्ती डॉक्टर को बाइक पर बैठाने लगे। इसी क्रम में चिकित्सक शोरगुल करने लगे। डॉक्टर की चीख पुकार सुनकर अस्पताल के गार्ड बाहर निकल आए और लपक कर अपराधियों के साथ भीड़ गये। दोनों तरफ से जमकर उठा पटक होने लगी। इसी बीच वहां भीड़ जुटने लगी। पकड़ाने के डर से अंधेरा का फायदा उठाते हुए बाइक से आए दो अपराधी वहां से फरार हो गए, जबकि एक अपराधी को सुरक्षाकमियों ने पकड़ लिया।

अस्पतालकर्मियों ने पुलिस को दी सूचना

अस्पतालकर्मियों ने घटना की सूचना दानापुर थाने को दी। सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस ने उस अपराधी को अपने हिरासत में ले लिया है। घटना के संबंध में दानापुर एएसपी अभिनव घीमन ने बताया कि प्रथम जानकारी यह है कि बाइक से आए तीन अपराधियों ने हाईटेक के डॉक्टर डॉक्टर गणपति को अपहरण करने का प्रयास किया था। जिसमें डॉक्टर और अपराधियों के बीच हल्की झड़प हुई है। इस घटना में डॉक्टर को हल्की चोट भी आई है।अभी उनका इलाज कराया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि मामले की जांच पड़ताल की जा रही है।

अपहरण का मामला निकला अफवाह, दो चिकित्सकों के बीच था आपसी विवाद

गिरफ्तार किये गये युवक से जब पुलिस ने पूछताछ शुरू किया तो पुलिस हैरान रह गई। दानापुर के थानाध्यक्ष कमलेश कुमार सिंह ने बताया कि हाईटेक अस्पताल के दो डॉक्टरों के आपसी विवाद के कारण इतना बड़ा हंगामा मचा। उन्होंने कहा कि हाईटेक अस्पताल के कुछ लोगों द्वारा ही डॉक्टर के अपहरण के प्रयास का रूप दिया गया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि जांच के क्रम में यह पाया गया कि 2 डॉक्टर के बीच कई दिनों से आपसी विवाद चल रहा था। डॉक्टर पूर्णेन्दु कुमार को हाइटेक हॉस्पिटल से निकाल दिया गया था। उनका और डॉक्टर गणपति कुमार के बीच बातचीत के क्रम में लड़ाई झगड़ा और विवाद हो गया था। इसी वजह से इसे जानबूझ कर अपहरण मामला का रूप दिया गया।

 



Source link

Related Articles

Stay Connected

1,271FansLike
1FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles